Top up SIP क्या होती हैं | टॉप अप सिप क्यों करें [2022*]

Reading Time: 5 minutes

Top up SIP in Hindi : म्यूचुअल फंड में निवेश करने का सबसे लोकप्रिय तरीका एसआईपी है। SIP के जरिए हम आमतौर पर म्यूचुअल फंड स्कीम में हर महीने एक खास तारीख को पैसा जमा करते हैं।

अगर आपने आज ₹1,000 का SIP शुरू किया है, तो क्या आप चाहेंगे कि 5 साल बाद भी आपकी SIP राशि ₹1,000 बनी रहे। आप अपनी आय बढ़ने के साथ-साथ अपने एसआईपी की राशि को थोड़ा-थोड़ा करके बढ़ाना चाहेंगे। इसलिए अगर आप अपने SIP की राशि को समय के अनुसार बढ़ाना चाहते हैं तो आपको Top up SIP के बारे में सही जानकारी होनी चाहिए।

आज हम म्यूचुअल फंड बेसिक में टॉप अप एसआईपी के बारे में बात करेंगे जिसमें टॉप अप एसआईपी क्या हैं, (Top up SIP in Hindi) टॉप अप एसआईपी के लाभ और टॉप अप एसआईपी कैसे काम करता है।

Top up SIP क्या होती हैं (Top up SIP in Hindi)

एक आम आदमी हमेशा अपनी जिम्मेदारियों के बोझ तले दबे रहता है। इसलिए उसे अपने वित्तीय लक्ष्यों को ध्यान में रखकर ही निवेश करना होगा।

जैसे-जैसे आपका वेतन या आय समय के साथ बढ़ती है, आप अपनी एसआईपी राशि बढ़ा सकते हैं। अपने पुराने म्यूच्यूअल फण्ड एसआईपी की राशि को बढ़ाने को टॉप अप एसआईपी कहते हैं। जैसा कि आप पहले से ही ₹1,000 का SIP चला रहे हैं और 2 साल बाद आपकी आमदनी कुछ बढ़ गई है।Top up SIP in Hindi

इससे आपने अपने SIP को ₹1000 से बढ़ाकर ₹1500 कर दिया। इस तरह आपके पहले से चल रहे SIP की राशि में जो वृद्धि होती है, उसे Top Up SIP कहते हैं।

Top up SIP क्यों करें?

SIP के जरिए निवेश करना आपके भविष्य के लिए बहुत अच्छा है। साथ ही अगर आपने SIP पर टॉप अप किया है तो यह आपको अपने लक्ष्य तक जल्दी पहुंचने में भी मदद करता है।

सामान्य एसआईपी और टॉप-अप एसआईपी के रिटर्न के बीच का अंतर लंबे समय में महत्वपूर्ण है। आइए एक उदाहरण की मदद से स्टेप अप एसआईपी को समझते हैं –

SIP की राशि ₹5,000 ₹5,000
टॉप अप प्रति वर्ष NIL ₹500
निवेश की अवधि 20 वर्ष 20 वर्ष
रिटर्न (अनुमानित) 15% 15%
परिपक्वता राशि (Maturity amt) 75.8 लाख 1.15 करोड़

 

इस उदाहरण में आप देखते हैं कि X और Y दोनों ने 20 वर्षों के लिए ₹5,000 का SIP शुरू किया। Y ने ₹ 500 प्रति वर्ष के स्टेप अप SIP का विकल्प चुना जबकि X ने कोई टॉप अप प्लान नहीं लिया। टॉप अप प्लान में ₹5,000 प्रति वर्ष यानी ₹500 हर साल ₹5,000 में जोड़ा जाएगा जैसे ₹5500, ₹6000, ₹6500।

X को ₹ 75.80 लाख मिलते हैं जबकि Y को 20 साल बाद ₹ 1.15 करोड़ मिलते हैं। यहां आप केवल यह सोचें कि यदि आपने ₹5,000 का SIP शुरू किया है तो क्या आप अगले 20 वर्षों तक उसी ₹5000 को जारी रखेंगे। इसलिए समझदारी है कि आप समय-समय पर अपनी क्षमता के अनुसार SIP को बढ़ाते रहें।

टॉप अप सिप के फायदे [2022]

(i) आय बढ़ने पर अधिक बचत करना –

अगर आपकी सैलरी या इनकम समय के साथ बढ़ती है तो आप अपने SIP को टॉप अप कर सकते हैं। ऐसा करके आप अपनी बचत को पहले के मुकाबले बढ़ा सकते हैं।

(ii) मुद्रास्फीति से बचाव –

मंहगाई के कारण आपके पैसे का मूल्य समय के साथ घटता-बढ़ता रहता है। भले ही औसत मुद्रास्फीति दर 6% मान ली जाए, तो आप अपने SIP को 6% प्रति वर्ष से अधिक बढ़ाकर मुद्रास्फीति पर काबू पा सकते हैं। इस तरह आप Step Up SIP की मदद से महंगाई की समस्या से निजात पा सकते हैं।

(iii) वित्तीय लक्ष्यों को शीघ्रता से प्राप्त करने में सहायक –

SIP आपको अपने दीर्घकालिक लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद करता है। यदि आप अपना एसआईपी टॉप अप करते हैं तो आप कम समय में अपना लक्ष्य प्राप्त कर सकते हैं या अधिक परिपक्वता राशि प्राप्त कर सकते हैं।

(iv) फास्ट कंपाउंडिंग –

SIP को कंपाउंडिंग की शक्ति के लिए जाना जाता है। यदि आप अपना एसआईपी बढ़ाते हैं, तो आपके निवेश की चक्रवृद्धि तेजी से होने लगती है। फास्ट कंपाउंडिंग के कारण आपका पैसा पहले की तुलना में तेजी से बढ़ने लगता है।

(v) नई SIP करवाने की आवश्यकता नहीं –

यदि आपकी आय में वृद्धि होती है या आय का कोई नया स्रोत बनता है, जिसका कुछ हिस्सा आप म्यूचुअल फंड में निवेश करने के बारे में सोचते हैं। ऐसे में अगर आपको नई म्यूचुअल फंड स्कीम में SIP मिलता है, तो इसमें समय लगने के साथ-साथ पोर्टफोलियो ओवरलैप की समस्या भी पैदा हो सकती है। नया SIP लेने से बेहतर विकल्प है कि आप अपने मौजूदा SIP को ही टॉप अप करें।

SIP Top up के नुकसान [2022]

स्टेप अप एसआईपी के कुछ फायदे हैं तो कुछ नुकसान भी हैं। आपको उनका खास ख्याल रखना होगा।

एक बार तय कर लेने के बाद अधिकांश फंड हाउस आपको टॉप अप एसआईपी राशि को बदलने की अनुमति नहीं देते हैं। यदि आपको अपनी टॉप अप राशि बदलनी है, तो आपको असुविधा का सामना करना पड़ सकता है।

कुछ फंड हाउस अपने निवेशकों को SIP टॉप अप की सुविधा नहीं देते हैं। अगर आप SIP की राशि बढ़ाना चाहते हैं तो आपको एक नया SIP शुरू करना होगा।

नॉर्मल SIP और Top up SIP में क्या अंतर हैं?

एक सामान्य SIP में आपको Step Up SIP की सुविधा नहीं होती है। अगर आपके पास ₹1,000 का SIP है और आप इसे ₹1,500 बनाना चाहते हैं, तो सामान्य SIP में आपको ₹500 का एक नया SIP शुरू करना होगा। इस तरह आपके पास एक ही स्कीम के दो SIP होंगे।

लेकिन टॉप अप एसआईपी में आपको नया एसआईपी शुरू करने की जरूरत नहीं है। आप अपनी पुरानी योजना में ही SIP की राशि बढ़ा सकते हैं। यह एसआईपी उसी तारीख को डेबिट किया जाएगा जिस दिन पुराना एसआईपी डेबिट किया गया था।Top up SIP in Hindi

टॉप अप एसआईपी – प्रमुख बिंदु

  • SIP शुरू करते समय आपको Top Up SIP का विकल्प चुनना होगा। कुछ फंड हाउस आपको बाद में भी यह सुविधा देते हैं।
  • अधिकांश परिसंपत्ति प्रबंधन कंपनियां न्यूनतम ₹500 या ₹500 के गुणक के लिए एसआईपी बढ़ाने की सुविधा प्रदान करती हैं।
  • कुछ फंड हाउस एक निश्चित प्रतिशत के रूप में टॉप अप की सुविधा भी देते हैं।
  • ज्यादातर मामलों में टॉप अप एसआईपी के बाद टॉप अप विवरण नहीं बदला जा सकता है।
  • टॉप अप एसआईपी के मामले में भरने के लिए कोई अलग ईसीएस डेबिट मैंडेट नहीं है। बैंक ऑटो डेबिट में आप इंटरनेट बैंकिंग के जरिए ऑटो पे लिमिट को खुद बदल सकते हैं।

SIP को टॉप अप कैसे करें?

ज्यादातर म्यूचुअल फंड हाउस एसआईपी शुरू करते समय आपसे एसआईपी टॉप अप की सुविधा के बारे में पूछते हैं। आप एक ही समय में टॉप अप की राशि और समय अंतराल चुन सकते हैं। यह सबसे आसान तरीका भी है।

दूसरे तरीके से, आप एसआईपी टॉप अप फॉर्म भर सकते हैं और इसे अपने नजदीकी फंड हाउस कार्यालय में जमा कर सकते हैं। मैं आपको कुछ फंड हाउस के एसआईपी टॉप अप फॉर्म का लिंक दे रहा हूं जो आप देख सकते हैं –

Conclusion :  Top up SIP in Hindi

सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान म्यूचुअल फंड में निवेश करने का एक बहुत अच्छा तरीका है। अगर सही प्लानिंग के साथ SIP किया जाए तो यह आपको ज्यादा अच्छे परिणाम दे सकता है। इसके लिए आपको समय-समय पर अपना SIP बढ़ाना होगा। यह आपको बढ़ती मुद्रास्फीति के साथ भी एक अच्छी परिपक्वता राशि प्राप्त करने की अनुमति देता है।

दोस्तों अगर आपको एसआईपी टॉप अप का यह लेख पसंद आया हो तो इसे सोशल मीडिया नेटवर्क पर जरूर शेयर करें और अगर आपका कोई सवाल है तो आप हमें कमेंट के जरिए पूछ सकते हैं।

FAQ : (Top up SIP in Hindi 2022)

Q.1 – एसआईपी टॉप-अप का क्या मतलब है?

Answer – एसआईपी टॉप-अप आपके पहले से चल रहे एसआईपी में एक निश्चित अंतराल पर एक निश्चित राशि या प्रतिशत की वृद्धि है।

Q.2 – SIP टॉप-अप और SIP स्टेप-अप में क्या अंतर है?

Answer – एसआईपी टॉप-अप और एसआईपी स्टेप-अप दोनों समान हैं।

Q.3 – एसआईपी टॉप-अप कैसे करें?

Answer – नया SIP शुरू करते समय आप टॉप अप का विकल्प चुन सकते हैं। इसके अलावा आप एसआईपी टॉप अप का फॉर्म भी भरकर फंड हाउस के ऑफिस में जमा कर सकते हैं।

Post Tag: Top up SIP kya hai, Top up SIP in hindi, Top up SIP kya hoti hai, Top up SIP kya hai hindi me, Top up SIP hindi 2022, Top up SIP kaise Kare,

इसे भी पढ़ें –

मेरा नाम विशाल कुशवाहा है और मैं Uttar Pradesh के प्रयागराज शहर मे रहता हु।अभी मै Graducation last year (B.SC.) का Student हूँ | मुझे Share Market, finance, Cryptocurrency, Investment, और Digital Marketing के बारे में पढ़ने और लिखने का शौक है।मै इस Blog के माध्यम से Readers को Share Market और finance और निवेश की जानकारी हिंदी भाषा में देना चाहता हूँ ।

Leave a Comment