Small Cap Mutual Fund क्या हैं – सम्पूर्ण जानकारी

Reading Time: 6 minutes

Small Cap Mutual Fund Kya hai – बाजार पूंजीकरण के आधार पर Mutual Fund विभिन्न प्रकार के होते हैं। इन्हीं में से एक है Small Cap म्यूचुअल फंड। Small Cap Fund को लेकर निवेशकों के मन में कई सवाल हैं, जिससे वे स्मॉल कैप Mutual Fund में निवेश को लेकर असमंजस में रहते हैं।

इस Article के माध्यम से आपके सवालों का जवाब दिया जाएगा, जिसमें यह शामिल होगा कि Small Cap Mutual Fund Kya hai? स्मॉल कैप फंड कैसे काम करते हैं और क्या आपको Small Cap में निवेश करना चाहिए।

Small Cap म्यूचुअल फण्ड

इस म्यूचुअल फंड Category को समझने से पहले Market Capitalization को समझना जरूरी है। बाजार पूंजीकरण के आधार पर Mutual Fund को Large Cap, Mid Cap और Small Cap में बांटा गया है। बाजार पूंजीकरण एक कंपनी का मूल्य है जिसका शेयर बाजार में कारोबार होता है। बाजार पूंजीकरण की गणना कंपनी के मौजूदा बाजार मूल्य को बकाया शेयरों की कुल संख्या से गुणा करके की जाती है।

Small Cap Mutual Fund Kya hai

वे Mutual Funds जो अपना पैसा Small Cap कंपनियों में लगाते हैं, Small Cap Mutual Fund कहलाते हैं। SEBI की नई Guidelines के मुताबिक Small Cap फंड्स को कम से कम 80 फीसदी Small Cap कंपनियों में ही निवेश करना होता हैं। Mutual Fund हाउस इस प्रकार के फंड को Small Cap Category में लॉन्च करते हैं।

Small Cap कंपनियां वे कंपनियां हैं जिनका बाजार पूंजीकरण 500 करोड़ या उससे कम है। शेयर बाजार में Listed टॉप 250 Market Cap कंपनियों के अलावा बाकी सभी कंपनियां Small Cap Category में आती हैं |

ये कंपनियां ऐसे बाजार में कदम रखने की कोशिश कर रही हैं जो स्थिरता की तलाश में है। Small Cap कंपनियां अन्य कंपनियों की तुलना में अधिक जोखिम भरी होती हैं। लेकिन इनमें भी ऊपर की ओर गति होने की संभावना है।

यह भी पढ़े  – 50 रुपये से कम के शेयर | Best Shares Under 50 Rs To Invest (In 2022)

Small Cap म्यूचुअल फंड कैसे काम करते हैं?

Small Cap फंड निवेशकों से प्राप्त धन को Small Cap कंपनियों में निवेश करते हैं। ये फंड High Risk और High Return के सिद्धांत पर काम करते हैं। स्मॉल कैप फंड का return निवेशित Small Cap कंपनियों के प्रदर्शन पर निर्भर करता है।

मान लीजिए ABC एक Small Cap Fund है जिसकी शुद्ध संपत्ति ₹1,000 है। इसमें से Fund Manager को न्यूनतम ₹800 वाली Small Cap कंपनियों में निवेश करना होता है और बाकी 20% अन्य कैटेगरी में निवेश कर सकते हैं। फंड मैनेजर फंड के उद्देश्यों के अनुसार समय-समय पर Mutual Fund की संरचना में बदलाव करता है।

Small Cap Funds में किसे निवेश करना चाहिए?

Small Cap fund का मतलब समझने के बाद सवाल आता है कि Small Cap फंड में किस निवेशक को निवेश करना चाहिए? स्मॉल कैप फंड में निवेश करना है या नहीं, यह हर निवेशक के लिए अलग-अलग हो सकता है।

ऐसे निवेशक जो High Return के लिए उच्च जोखिम लेने के इच्छुक हैं, वे इन Funds में निवेश कर सकते हैं। अगर आप ज्यादा जोखिम लेने को तैयार नहीं हैं तो Small Cap Mutual Fund से दूर रह सकते हैं.

यदि आपने पहले से ही अन्य परिसंपत्ति वर्गों में निवेश किया है और अपने Portfolio में विविधता लाना चाहते हैं, तो आप अपनी संपत्ति का कुछ हिस्सा Small Cap Fund में निवेश कर सकते हैं।

मेरी राय में अगर आपकी उम्र 55-60 साल के आसपास है तो आपको ऐसे High Risk फंड में निवेश करने से बचना चाहिए।

यह भी पढ़े  – 

Small Cap Fund में निवेश करते समय किन-किन बातों का ध्यान रखना आवश्यक हैं?

(1) Risk – Mid Cap और Large Cap जैसी श्रेणी के अन्य फंडों की तुलना में Small Cap Mutual Fund काफी स्थिर होते हैं। उच्च अस्थिरता के कारण, वे अधिक जोखिम भी उठाते हैं। स्मॉल कैप फंड Bull Market में अच्छा प्रदर्शन करते हैं लेकिन गिरते बाजारों में उन्हें ज्यादा दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

इसलिए, आपको Small Cap Fund में निवेश करने से पहले अपनी जोखिम उठाने की क्षमता की जांच करनी चाहिए।

(2) Return – Small Cap म्यूचुअल फंड में Return देने की असाधारण क्षमता होती है। पिछले कुछ वर्षों में यह देखा गया है कि Small Cap फंडों ने अपने जबरदस्त Returns के साथ कई निवेशकों को आकर्षित किया है। ऐसे Mutual Funds को अपने Portfolio में शामिल करके आप अपने Returns को एक अलग स्तर पर ले जा सकते हैं।

(3) Expense Ratio – Mutual Fund में Expense Ratio का बहुत महत्व होता है। Small Cap फंड चुनते समय Expense Ratio को ध्यान में रखना जरूरी है। SEBI ने Equity एक्सपेंस रेशियो पर अधिकतम 2.25 फीसदी की सीमा तय की है। एक उच्च व्यय अनुपात आपके Returns को कम कर सकता है। इसलिए, आपकी योजना का Expense Ratio जितना कम होगा, आपके Returns के लिए उतना ही बेहतर होगा।

(4) Long Term View – बाजार की खराब परिस्थितियों में Small Cap Mutual Funds बहुत जोखिम भरा होता है। गिरते बाजार में स्मॉल कैप फंड सबसे ज्यादा प्रभावित होते हैं। इसलिए हमेशा long term को ध्यान में रखते हुए Small Cap फंड्स में निवेश करना चाहिए। वे अल्पावधि में बहुत अस्थिर हो सकते हैं।

अच्छे रिटर्न के लिए Small Cap Fund में कम से कम 6 से 10 साल की अवधि के लिए निवेश करना चाहिए।

(5) SIP मोड – Small Cap फंड में निवेश करना जोखिम भरा साबित हो सकता है। इस श्रेणी को सारांशित करके बाजार को समय देने की कोशिश करना भी एक गलत रणनीति हो सकती है। इसलिए SIP को Small Cap में निवेश करने का सबसे अच्छा तरीका माना जाता है। SIP के जरिए आपकी खरीदारी की लागत लगातार औसत होती है।

(6) निवेशक की उम्र – छोटी अवधि के निवेश के साथ Small Cap फंडों में अधिक अस्थिरता होती है। अगर आपकी उम्र ज्यादा है तो आप Small Cap Fund में ज्यादा समय तक निवेश नहीं कर पाएंगे।

लेकिन अगर आप अभी भी युवा हैं तो आप इन Funds में लंबी अवधि के लिए निवेश कर सकते हैं। लंबे समय तक निवेशित रहने से जोखिम की मात्रा बहुत कम हो जाती है।

Small Cap Mutual Funds कितना रिटर्न देते हैं?

आप नीचे दिए गए कुछ लोकप्रिय Small Cap Funds का Return देख सकते हैं –

Return since Launch –

  • SBI Small Cap Fund – Regular Plan – 21%
  • HDFC Small Cap Fund – Regular Plan – 15.94%
  • Axis Small Cap Fund – Regular Plan – 25.45%

इस प्रकार स्मॉल कैप Mutual Funds में लम्बी अवधि में काफी अच्छे Return देखे जा सकते हैं जिसकी रेंज 15 से 25% तक भी हो सकती हैं।

यह भी पढ़े  –  Coin Switch Kuber क्या है? इससे Bicoin कैसे ख़रीदे 2022

Small Cap Funds के फायदे

  • High Return देने के कारण वेल्थ निर्माण को गति प्रदान करता हैं।
  • आपके Investment Portfolio में विविधता (diversification) आती है।
  • कम समय में ज्यादा Return देने की क्षमता।

Small Cap Funds के नुकसान

  • किसी भी उम्र वर्ग के व्यक्ति के लिए उचित नहीं।
  • बहुत ज्यादा Risky ।
  • गिरते Market में सर्वाधिक संवेदनशील।

Small Cap फंड में Tax

अन्य Equity Funds की तरह, Small Cap Fund एसटीसीजी और एलटीसीजी टैक्स को आकर्षित करते हैं। यह Tax आपको अपने Return या Profits से चुकाना होता है। जब आप अपनीMutual Fund यूनिट बेचते हैं, तो आपको जो लाभ होता है वह पूंजीगत लाभ होता है।

अगर आप 1 साल या 1 साल के अंदर अपना निवेश बेचते हैं तो आपको 15% की दर से STCG टैक्स देना होगा। अगर आप 1 साल के बाद अपने Mutual Funds निवेश को बेचते हैं, तो आपको पूंजीगत लाभ पर 10% की दर से LTCG टैक्स देना होगा। 1 लाख रुपये तक के Long Term Capital गेन तक आपको कोई tax नहीं देना होगा।

अगर आपने अपने Small Cap फंड का डिविडेंड प्लान लिया है तो आपको 10% टीडीएस काटने के बाद डिविडेंड मिलता है। Mutual Funds की बिक्री पर नुकसान के मामले में कोई कर नहीं देना पड़ता है।

Risk-averse निवेशकों के लिए रणनीति

Small Cap म्यूचुअल फंड में Benchmark को मात देने और अच्छा Return देने की क्षमता है। हालांकि, यह एक बहुत ही जोखिम भरा निवेश है। इसमें आपको तभी निवेश करना चाहिए जब आप कीमतों में उतार-चढ़ाव का सामना कर सकें।

लेकिन जोखिम से बचने वाले निवेशक होने के बावजूद, आप अपने Portfolio का एक छोटा सा हिस्सा Small Cap फंड में छोड़ सकते हैं और इसे लंबी अवधि के लिए रख सकते हैं। यह आपको अपने धन निर्माण प्रयासों में तेजी लाने की अनुमति देता है।

Small cap Fund कितना रिस्की होते हैं?

Small Cap फंड छोटी कंपनियों में निवेश करते हैं। अगर बाजार में जरा भी उतार-चढ़ाव होता है तो इसका सबसे ज्यादा असर Small Cap कंपनियों पर पड़ता है. इस प्रकार, यह Mutual Fund की अन्य सभी श्रेणियों में सबसे अधिक जोखिम भरा है। लेकिन साथ ही इनमें जबरदस्त Growth की संभावनाएं भी होती हैं, जिससे ये कई गुना Return भी दे सकते हैं। लंबी अवधि के लिए निवेश करके आप इसके जोखिम को कम कर सकते हैं।

Conclusion – Small Cap Mutual Fund kya hai?

आज के इस पोस्ट मे मैंने आपको बताया कि Small cap mutual fund kya hai?, Small cap mutual fund kam kaise karta hai, etc. के बारे मे आज हमने आपके साथ Discuss किया है। अगर आपको ये Article पसंद आया, और इस Article को पढ़कर आपको कुछ सीखने को मिला, तो आप Comment करके हमे जरूर से बताये।

धन्यवाद ! (Thank You) 

 

Share Market, Make Money Online और Investment Related सभी जानकारी के लिए Visit करे।

मेरा नाम विशाल कुशवाहा है और मैं Uttar Pradesh के प्रयागराज शहर मे रहता हु।अभी मै Graducation last year (B.SC.) का Student हूँ | मुझे Share Market, finance, Cryptocurrency, Investment, और Digital Marketing के बारे में पढ़ने और लिखने का शौक है।मै इस Blog के माध्यम से Readers को Share Market और finance और निवेश की जानकारी हिंदी भाषा में देना चाहता हूँ ।

Leave a Comment