SIP क्या है और SIP के फायदे | SIP in Hindi Full Information in 2022

Reading Time: 7 minutes

हेलो दोस्तों कैसे है आप सब ? मैं आशा करता हु की आप सब बढ़िया है , जैसा की आप गूगल पे ये खोज रहे थे की SIP Kya hai और SIP करने के क्या क्या फायदे होते है |

जैसा की आप SIP के बारे में नहीं जानते है? तो हम आपको बताएँगे की SIP क्या होता हैं और उसके फायदे कौन कौन से है और SIP में क्या रिस्क (Risk) मतलब SIP में नुकसान क्या है, कैसे हम अपने पैसे को कई गुना बढ़ा सकते है और बहोत कुछ |

जैसा की लोगो के बीच SIP, और Mutual Fund को लेकर काफी गलत धरना है और बहुत ही अंधविस्वाश भी है, तो मैंने सोचा की इस धारणा को दूर किया जाये | हम इस पोस्ट में आपका SIP और Mutual Fund को लेकर जो भी गलत धारणा है उन सभी को बदल देंगे |

दोस्तों जैसा की आज के दुनिया में पैसे की इज़्ज़त और बढ़ते मॅहगाई को देखर लोगो के मन में दर बैठ रहा की आगे क्या होगा और अब लोग अपने पैसे बचाने के तरीको के बारे में पढ़ या सिख रहे है |

अगर आप भी उन्हीं तरीको के बारे में जानना चाह रहे तो बहुत सही जगह आये है, SIP भी उन्ही में से एक तरीको में आती है | तो दोस्तों आइये जानते SIP Kya hai, SIP का Full Form क्या होता है, और SIP के kya फायदे है, SIP full Information Hindi में |

SIP क्या है ( SIP Kya hai, SIP Meaning in Hindi)

SIP का full form (Systematic Investment Plan) होता है इसका मतलब आपके द्वारा एक कंटीन्यूअस लगातार और व्यवस्थित रूप से निवेश करना |

आइये जानते है या फिर SIP Meaning in Hindi को अपने भासा में समझते है , दोस्तों जैसा की होता है न की हम थोड़े थोड़े पैसे को एक गुल्लक में इक्क्ठा करते है और फिर बाद में जब गुल्लक भर जाता है, और जब उसे फोड़ते है तो बहुत सारा पैसा निकलता है उसमे से |

ठीक उसे की तरह SIP में भी कुछ ऐसा ही है की हम हर महीने थोड़े थोड़े पैसे इन्वेस्ट करते है और कुछ सालो बाद वो पुरे आप के पैसे और + उसका ब्याज सहित अच्छा खासा रिटर्न मिलता है |

वैसे तो SIP आपको compound Interest देता है, जिससे आपका पैसा बहुत ही तेज़ी से बढ़ता है | SIP का सबसे बड़ा facts ये है की SIP को जितने ज्यादा लंबे समय के लिए किया जाता है उतना ही आपको अधिक पैसा मिलता है | मतलब की आप हर महीने 500 से शुरू करके आप 30 से 40 सालो में आप करोड़ो बना सकते है |

SIP आपको tax बचाने में भी मदद करता है. Hindi me SIP ka Full form सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान.

म्यूच्यूअल फंड क्या है – Mutual Fund Kya Hai Hindi

Mutual Funds एक ऐसे प्लेटफार्म है जिसके माध्यम से हम अपने पैसे को Share Market में किसी भी कंपनी के Stock या फिर बैंड में निवेश कर सकते हैं। सिर्फ ऐसी बात नहीं है कि Mutual Fund में आप सिर्फ हजारों लाखों रुपए Invest कर सकते हैं, बल्कि आप इस प्लेटफार्म के माध्यम से ₹500 प्रति माह की दर से भी अपने पैसे निवेश कर सकते हैं।

म्यूच्यूअल फंड और SIP में क्या फर्क है? 

म्यूच्यूअल फण्ड (mutual fund) एक जगह है, जहा आप अपनाे पैसा को इन्वेस्ट क़र के अपने पैसे को कई गुना मतलब 2X ,10X, और 100X तक बड़ा सकते हो | और SIP म्यूच्यूअल फण्ड का एक हिस्सा है, SIP एक तरीका जिसका उपयोग करके आप म्यूच्यूअल फण्ड में अपना पैसा लगा सकते हो |

SIP के प्रकार (Type of SIP)

  1. टॉप-अप सिप (Top-up SIP)
  2. फ्लेक्सिबल सिप (Flexible SIP)
  3. परपेचुअल सिप (Perpetual SIP)

आखिर SIP ही क्यों?  (SIP क्यों शुरू करें)

दोस्तों जैसा की हर कोई लाखो एक साथ इन्वेस्ट नहीं कर सकता न ही कोई इतना एक साथ निवेश करना भी नहीं चाहता और न ही निवेश कर पाने में सक्षम होते हैं। एसआईपी में वे एक कम निवेश मतलब (500 – 1000 रुपये ) से भी इन्वेस्टमेंट की शुरुआत कर सकते हैं।

वैसे तो Mutual Fund के ज़्यदातर निवेश Share Market में ही होते हैं, और यदि अब मान लीजिए आपको शेयर मार्केट में निवेश करना है दोस्तों तो आपके पास ये तीन विकल्प मौजूद हैं।

1st Method –  या फिर तो आप खुद से अच्छा खासा research करिये पढ़िए और समझिये की stock मार्केट क्या है और इसमें पैसे कैसे इन्वेस्ट करे | और पुरे जानकारी लेके फिर Stock Market में पैसे लगाइये | और फिर भी यदि इसमें आपको नॉलेज नहीं है तो अपने पैसे डूबा सकते हो आप |

2nd Method – दूसरा ऑप्शन आपके पास ये बचता है की शेयर मार्केट के किसी अच्छे जानकर मतलब शेयर मार्किट के किसी इन्वेस्टमेंट एडवाइजर के द्वारा निवेश करे | जिसमे आप को उसके चार्जेज भी देने पड़ेंगे और वो उसके लिए आप को कब शेयर बेचना सलाह देता रहेगा | इन्वेस्टमेंट एडवाइजर होने के बावजूद आपको नुकसान उठाना पड़ सकता है।

3rd Method – तीसरा या लास्ट ऑप्शन ये है की आप को म्यूच्यूअल फण्ड में SIP के रूप में निवेश करे, जिसमे न तो आपको ज्यादा समय देना है न ही जयदा पढ़ने लिखने और समझने की जरूरत पड़ेगी | इसमें आपके पोर्टफोलियो को समय-समय पर ट्रैक भी नही करना पड़ता। इस प्रकार मार्केट के रिटर्न्स का फायदा उठाने के लिए mutual funds में निवेश किया जा सकता है।

आइये इसे हम आपको एक उदाहरण से समझाने का प्रयास करते हैं। मान लीजिए आपको आपका इन्वेस्टमेंट एडवाइजर TATA का शेयर खरीदने की सलाह देता है और माना कि TATA के एक शेयर का मूल्य ₹50,000 है। अब हम में से अधिकतर लोग इतना बड़ा amount एक साथ नही manage कर सकते है।

अब यहां mutual funds के माध्यम से हमारा फण्ड मैनेजर अलग-अलग लोगों से आये हुए पैसो से हमारे पोर्टफोलियो के लिए TATA के शेयर्स खरीद सकता है। इस प्रकार म्यूच्यूअल फंड हमें उन stocks में भागीदारी प्रदान करता है जिन्हें हम एक साथ खरीद पाने में असमर्थ होते हैं।

SIP में निवेश क्यों करना चाहिए (SIP kya hai?)

दोस्तों जैसा की एक उम्र के एक पड़ाव पर हम सब को किसी ना किसी कार्य के लिए इक्क्ठा पैसों की आवश्यकता होती है इसके पीछे वजह हो सकते है। इसी लिए हमें किसी ना किसी माध्यम से निवेश करते रहना चाहिए । SIP भी हमें सुविधा प्रदान करता है कि भविष्य में हम अपने सपनों को पूरा कर सकें।

दोस्तों जब आप SIP के माध्यम से अनुशासित रूप से निवेश करने लग जाते हैं, तो आपको अच्छा मुनाफा मिलने के बहुत अवसर बढ़ जाते हैं। और आप चाहे कितनी ही बुरी से बुरी SIP स्कीम का चुनाव कर ले फिर भी यदि आप लंबे में समय वाले SIP में इन्वेस्ट कर रहे , तो वह भी आपको रिटर्न देने का माद्दा रखती है।

इसलिए आपको SIP में निवेश करने के लिए इतना छोटा सा भी संकोच नहीं करना चाहिए मेरे हिसाब से देखा जाये तो ये आपके लिए एक संजीविनी के तरह काम आएगा ।

और जैसा की SIP ही क्यों का ये जवाब हो जयेगा की SIP मिडिल क्लास वालो के लिए या फिर नौकरी पेशा जो लोग उनके लिए मंथली जितना कमाते है उसमे से बिलकुल एक छोटा सा हिस्सा ही हर महीने निवेश करके आप ३०-४० सालो बाद करोङो का मालिक कब बन गए आप को भी पता नहीं चलेगा |

बाकी सारे अतिरिक्त निवेश आपसे थोड़ी अधिक राशि मांगते हैं चाहे वह गोल्ड हो, या FD. SIP में ₹ 500 या 1000 हर महीने निवेश करके SIP रिटर्न्स का फायदा उठा सकते हैं।

SIP शुरू करने के लिए कितनी रकम चाहिए ?

आप किसी प्रकार के म्यूचुअल फंड (Mutual Fund ) में मात्र 500 रूपये महीने की रकम से SIP शुरू कर सकते हैं और आप कभी भी इस रकम को निकल और बड़ा सकते है |

सबसे अच्छे SIP और म्यूच्यूअल फण्ड (Mutual Fund) कौन से है

1. Parag parikh flexi cap fund direct growth

  • Rating – 5
  • segment – Equity Flexi cap
  • Return – 20.26 % (पिछले 5 सोले में)

2. Axis Midcap Direct Plan growth

  • Rating – 5
  • segment – Equity Mid cap
  • Return – 20.38 % (पिछले 5 सोले में)

3. Canara Robeco Blue-chip Equity Fund Direct Growth

  • Rating – 5
  • segment – Equity larg cap
  • Return – 18.02 % (पिछले 5 सोले में)

4. UTI Flexi Cap Fund Direct Growth

  • Ratting – 5
  • segment – Equity Flexi cap
  • Return – 17.6 % (पिछले 5 सोले में)

5. DSP Flexi Cap Fund Direct Plan Growth

  • Ratting – 4
  • segment – Equity Flexi cap
  • Return – 18.15 % (पिछले 5 सोले में)

6. Axis Bluechip Fund Direct Plan Growth

  • Ratting – 5
  • segment – Equity Large cap
  • Return – 17.57 % (पिछले 5 सोले में)

SIP kya hai? SIP में निवेश करने के फायदे

SIP के जरिए निवेश करने से आपको कई प्रकार के लाभ प्राप्त होते हैं।

  • SIP का बड़ा फायदा ये है की कम निवेश के कारण आर्थिक बोझ की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा आपको ।
  • और इसमें बहुत सारे लोगों के एक साथ लगे पैसों को प्रोफेशनल फंड मैनेजर द्वारा संचालित किया जाता है तो इसमें पैसे के जोखिम में  जाने की मात्रा कम हो जाती है।
  • आप SIP के Dividend प्लान को चुनकर समय-समय पर dividend की राशि प्राप्त कर सकते हैं।
  • SIP में जब चाहे आप अपनी SIP की राशि (पैसो) को घटा-बढ़ा सकते हैं।
  • फंड मैनेजर द्वारा पैसा शेयर मार्केट, गोल्ड, बांड्स आदि में लगाया जाता है जिससे आपके पोर्टफोलियो में विविधता बनी रहती हैं।
  • SIP में समय सबसे अधिक महत्वपूर्ण भाग अदा करता है। आप जितना समय निवेशित रहेंगे आपका रिटर्न उतनी तेजी से बढ़ेगा।
  • SIP में आपको compounding का जबरदस्त फायदा मिलता है। चलिए मैं आपको इसे एक उदाहरण की सहायता से समझाता हूं।

 

Investors Vishal
Monthly SIP ₹5,000 ₹5,000
Years 20 yrs 25 yrs
Return 15% 15%
Maturity Amt 75.8 Lakhs 1.6 Crore

देखिए दोस्तों विशाल और आकाश दोनों ने 5,000 की SIP प्रारंभ की। विशाल20 वर्ष में 75.8 लाख लेकर बाहर लेकर निकला। वही आकाश मात्र 5 वर्ष और अधिक निवेश करके अक्षय का दुगना लेकर निकल रहा है। इसे कहते हैं SIP में Power of compounding.

  • एक बार KYC करवाने के पश्चात आपको बार-बार KYC करवाने की आवश्यकता नहीं होती। आप सीधे अपने पैन कार्ड के आधार पर म्यूच्यूअल फंड खरीद सकते हैं।
  • SIP में कागजी कार्यवाही का झंझट नहीं रहता और mutual funds सेबी द्वारा regulate होने के कारण पैसे की डूबने की संभावना नहीं रहती।

इसे भी पढ़े: 

Conclusion of the Post:-

आज के इस पोस्ट मे मैंने आपको बताया कि SIP kya hai? और SIP के फायदे , SIP in Hindi Full Information in 2022, etc. के बारे मे आज हमने आपके साथ Discuss किया है।

अगर आपको ये Article पसंद आया, और इस Article को पढ़कर आपको कुछ सीखने को मिला, तो आप Comment करके हमे जरूर से बताये।।
धन्यवाद! (Thank You) 
Share Market, Make Money Online और Investment Related सभी जानकारी के लिए Visit करे। 

मेरा नाम विशाल कुशवाहा है और मैं Uttar Pradesh के प्रयागराज शहर मे रहता हु।अभी मै Graducation last year (B.SC.) का Student हूँ | मुझे Share Market, finance, Cryptocurrency, Investment, और Digital Marketing के बारे में पढ़ने और लिखने का शौक है।मै इस Blog के माध्यम से Readers को Share Market और finance और निवेश की जानकारी हिंदी भाषा में देना चाहता हूँ ।

Leave a Comment