Equity Fund क्या है और इसमें निवेश कैसे करे? [2022]

Reading Time: 6 minutes

Equity Fund Kya hai : क्या आप जानते हैं Equity Fund Kya hai? आज बहुत से लोग इसी दुविधा में हैं कि Equity Fund Kya hai, इन फंड्स से जुड़ी किसी भी वेबसाइट पर कोई पुख्ता जानकारी उपलब्ध नहीं है। इसीलिए आज हम आपके लिए इक्विटी फंड से जुड़ी यह पोस्ट लेकर आए हैं। हमारी पोस्ट इक्विटी फंड से जुड़े आपके सभी सवालों का जवाब देगी।

म्यूचुअल फंड के बारे में हम आपको अपनी वेबसाइट पर पहले ही बता चुके हैं कि ये म्यूचुअल फंड क्या होते हैं और कैसे काम करते हैं. इसलिए जैसा कि हमने पहले उल्लेख किया है कि हम म्यूचुअल फंड को 3 प्रकारों में विभाजित कर सकते हैं, डेट, हाइब्रिड और थर्ड इक्विटी। Equity Fund Kya hai?

इक्विटी फंड म्यूचुअल फंड की वह योजना है, जो कंपनी के शेयरों/शेयरों में विशेष रूप से निवेश करती है। इन्हें ग्रोथ फंड भी कहा जाता है। इन तीन फंडों में से इक्विटी फंड सबसे लोकप्रिय माने जाते हैं। तो आइए जानते हैं क्या है यह इक्विटी फंड और क्या हैं इसके फायदे।

Equity Fund Kya hai – (इक्विटी फण्ड क्या है)

इक्विटी फंड में ज्यादातर निवेश शेयर बाजारों में निवेश के लिए किया जाता है। ये म्यूचुअल फंड उन निवेशकों के लिए फायदेमंद हो सकते हैं जो शेयर बाजार में जोखिम उठाने को तैयार हैं. क्योंकि अगर इक्विटी फंड में प्रॉफिट ज्यादा होता है तो इसके साथ-साथ रिस्क भी ज्यादा होता है।

इक्विटी फंड द्वितीयक बाजार में इक्विटी से संबंधित वस्तुओं में निवेश करते हैं। इक्विटी फंड उच्च जोखिम के साथ उच्च रिटर्न प्रदान करते हैं। अधिकांश इक्विटी फंड कंपनियों के बाजार पूंजीकरण के अनुसार निवेश करते हैं।

सरल शब्दों में जो फंड शेयर बाजार में निवेश करते हैं उन्हें इक्विटी फंड कहा जाता है। इनमें से ज्यादातर लोग कम समय में ज्यादा मुनाफा कमाने के विचार से निवेश करते हैं।

इक्विटी फण्ड के प्रकार

इक्विटी फंड को कई तरह से वर्गीकृत किया जा सकता है। इक्विटी फंड को मुख्य रूप से लार्ज कैप, मिड कैप और स्मॉल कैप में बांटा गया है। लेकिन इनके अलावा और भी कई फंड हैं जैसे डाइवर्सिफाइड फंड और सेक्टर फंड, आइए जानते हैं इनके बारे में।

1) लार्ज कैप इक्विटी फंड : 

लार्ज कैप इक्विटी फंड ज्यादातर बड़ी कंपनियों में निवेश किया जाता है। ये कंपनियां अपने क्षेत्र में अच्छी तरह से स्थापित हैं और उनके डूबने की संभावना नई या कम बाजार पूंजीकरण वाली कंपनियों की तुलना में कम है।

इसी वजह से लार्ज कैप कंपनियों को निवेश के लिए सुरक्षित माना जाता है। केवल बड़ी कंपनियों के लार्ज कैप में होने की संभावना है। इसी वजह से लार्ज कैप फंड ऐसे इक्विटी निवेशकों के लिए उपयुक्त माने जाते हैं जो इक्विटी फंड में भी ज्यादा जोखिम लेना पसंद नहीं करते हैं। इस प्रकार के फंड कम जोखिम के साथ सरल रिटर्न प्रदान करते हैं।

2) मिड कैप इक्विटी फंड :

 मिड कैप इक्विटी फंड में ज्यादातर मध्यम आकार की कंपनियों को लक्षित किया जाता है और मध्यम आकार की कंपनियों में ही निवेश किया जाता है। इन कंपनियों में निवेश में कुछ जोखिम शामिल है। क्योंकि कंपनी अपनी पूरी क्षमता से प्रदर्शन करने में सक्षम नहीं हो सकती है। Equity Fund Kya hai?

और आपने अपना पैसा खो दिया। लेकिन ऐसे फंड में निवेश करने से आपको फायदा भी हो सकता है। अगर निवेशित कंपनी बाद में विकसित होती है और बड़ी कंपनी बन जाती है। तो आप बहुत लाभ कमा सकते हैं और यह आपके लिए बहुत फायदेमंद भी हो सकता है। ऐसे व्यक्ति जिनकी जोखिम सहने की क्षमता अधिक होती है वे ऐसे इक्विटी फंड में निवेश करते हैं।

3) स्मॉल कैप इक्विटी फंड : 

म्यूच्यूअल फण्ड स्कीम जिसके माध्यम से उनका अधिकांश पैसा छोटी कंपनियों के शेयरों/स्टॉक में निवेश किया जाता है, तो उस प्रकार के म्यूचुअल फंड को स्मॉल कैप इक्विटी फंड कहा जाता है।

ऐसी योजनाओं के प्रबंधक अपने अधिकांश या सभी धन को छोटी कंपनियों में निवेश करते हैं। इस वजह से ऐसी योजनाओं में निवेश मिड कैप और लार्ज कैप फंड की तुलना में काफी अधिक जोखिम भरा होता है, लेकिन स्मॉल कैप इक्विटी फंड से रिटर्न भी लार्ज या मिड कैप योजनाओं की तुलना में कई गुना अधिक हो सकता है। सकता है।

इन कंपनियों में निवेश करना भी जोखिम भरा होता है क्योंकि इनके बारे में बहुत कम जानकारी सार्वजनिक रूप से उपलब्ध होती है। स्मॉल कैप इक्विटी फंड केवल उच्च जोखिम वाले निवेशकों के लिए हैं।

4) सेक्टर फण्ड (Sector Funds) :

सेक्टर फंड का अर्थ है किसी विशेष क्षेत्र में निवेश। इन फंड्स में किसी खास सेक्टर की कंपनियों के शेयरों का ही निवेश किया जाता है। चूंकि सेक्टर फंड में किए गए निवेश केवल एक सेक्टर पर केंद्रित होते हैं, इसलिए फंड की दुनिया में सेक्टर फंड को बहुत जोखिम भरा माना जाता है।

सेक्टर फंड में फंड का मैनेजर अपनी बुद्धि के अनुसार किसी भी ऐसे सेक्टर में निवेश करता है, जिसमें प्रॉफिट की संभावना सबसे ज्यादा हो, उदाहरण के लिए रियल एस्टेट सेक्टर फंड रियल एस्टेट कंपनियों में ही निवेश करेगा।

निवेशकों को सेक्टर फंड में निवेश करने से बचना चाहिए। क्योंकि ऐसे फंड्स पर कोई भरोसा नहीं है। अगर आप निवेश करना चाहते हैं तो अपनी पूंजी का एक छोटा सा हिस्सा ही इन फंडों में निवेश करें।

5) ELSS (इक्विटी लिंक्ड सेविंग स्कीम) या Tax Saving Funds:

इक्विटी लिंक्ड सेविंग स्कीम या टैक्स सेविंग म्यूचुअल फंड निवेशकों के लिए आयकर छूट पाने का एक तरीका है। आयकर अधिनियम की धारा 80सी के तहत कर छूट प्रदान की जाती है।

इन फंडों में निवेश किए गए 1.5 लाख रुपये तक कर कटौती के लिए पात्र हैं। ऐसे फंड तीन साल की लॉक-इन अवधि के साथ आते हैं। लॉक-इन पीरियड का मतलब है कि निवेश के बाद तीन साल तक इन फंडों को नहीं निकाला जा सकता है और इस अवधि के पूरा होने के बाद ही ऐसे फंड निकाले जा सकते हैं।Equity Fund Kya hai?

6) डायवर्सिफाइड इक्विटी फंड :

ये इक्विटी फंड सभी क्षेत्रों में निवेश करते हैं, इसका मतलब यह है कि ये फंड केवल कुछ विशेष प्रकार के शेयरों में निवेश करने तक ही सीमित नहीं हैं, उनके पास निवेश के बहुत सारे विकल्प हैं। और उनकी वजह से बड़ी कंपनियों, मध्यम आकार की कंपनियों और छोटी कंपनियों आदि में निवेश करते रहते हैं।

यह फंड विभिन्न क्षेत्रों और विभिन्न उद्योगों की कंपनियों में निवेश करता है। सरल शब्दों में, इस प्रकार का निवेश अर्थव्यवस्था के किसी विशेष भाग में निवेश तक ही सीमित नहीं है।

Equity Funds से लाभ

इक्विटी फंड से भी वही लाभ मिलते हैं जो हमें म्यूचुअल फंड से मिलते हैं। जैसे निवेश में आसानी, पारदर्शिता, कम जोखिम आदि। इक्विटी फंड में निवेश करने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि आपको स्टॉक और सेक्टर में निवेश करने की चिंता नहीं करनी पड़ती, यह सब काम फंड मैनेजर द्वारा किया जाता है।

2022 में इक्विटी फंड्स में निवेश कैसे करे?

इक्विटी फंड में निवेश करना बहुत आसान है, इसके लिए आप या तो किसी ब्रोकर या एजेंट के जरिए निवेश शुरू कर सकते हैं या फिर खुद ऑनलाइन निवेश शुरू कर सकते हैं।

अगर आप बाजार में नए हैं तो आपको किसी ब्रोकर की मदद से निवेश करना चाहिए क्योंकि इससे आपको निवेश और फंड से जुड़ी सारी जानकारी मिल जाएगी।

इसके लिए ब्रोकर और एजेंट आपसे शुल्क लेते हैं। लेकिन एक सुविधा यह भी है कि हम किसी विशेषज्ञ की मदद से निवेश कर रहे हैं।

ऑनलाइन या प्रत्यक्ष निवेश में, आप अपनी गतिविधियों के लिए स्वयं जिम्मेदार होते हैं। इसमें किसी दलाल या एजेंट की मदद नहीं ली जाती है।

इसके लिए आप रिलायंस आदि कंपनियों के म्यूचुअल फंड की वेबसाइट पर जाकर अकाउंट बना सकते हैं और निवेश शुरू कर सकते हैं। इन वेबसाइटों पर आपको केवाईसी, बैंक विवरण आदि जैसी जानकारी देनी होगी, जिसका उपयोग आप फंड खरीदते समय करेंगे।

Direct Investment में आप अपनी इच्छा के अनुसार Funds को खरीद और बेच सकते हैं। ब्रोकर की अनुपस्थिति में आप उसे दी गई अतिरिक्त राशि भी बचा लेते हैं और आप चाहें तो इसे फंड खरीदने में भी निवेश कर सकते हैं।Equity Fund Kya hai?

आप डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट में कभी भी निवेश कर सकते हैं। इसमें कोई समय सीमा नहीं है, आप किसी भी समय और कहीं से भी निवेश कर सकते हैं।

2022 में  Invest करने के लिए Top Equity Funds

भारत में कई कंपनियों के इक्विटी फंड मौजूद हैं, अब सवाल आता है कि किस कंपनी के फंड में निवेश करें तो हम आपको बताते हैं कि किस कंपनी के इक्विटी फंड आपके लिए फायदेमंद हो सकते हैं।

टॉप 5 फंड जो आपके निवेश के लिए फायदेमंद हो सकते हैं।

1)एसबीआई ब्लूचिप फंड-नियमित (डी)

2)बिड़ला एसएल फ्रंटलाइन इक्विटी फंड (डी)

3)फ्रैंकलिन इंडिया प्राइम प्लस फंड (डी .)

4) मीरा एसेट अपॉर्चुनिटीज फंड-रेगुलर (डी)

5) एचडीएफसी मिड कैप फंड (डी)

अगर आप इन फंडों में निवेश करते हैं तो आप अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं।

किसी भी कंपनी में निवेश करने से पहले उस कंपनी की आर्थिक स्थिति के बारे में पूरी तरह से जान लें। और इक्विटी फंड में तभी निवेश करें जब आप पूरी तरह से संतुष्ट हों।

Conclusion :  Equity Fund Kya hai

मुझे उम्मीद है कि आप लोग Equity Fund Kya hai? के बारे में समझ गए होंगे। आप सभी पाठकों से मेरा अनुरोध है कि आप भी इस जानकारी को अपने आस-पड़ोस, रिश्तेदारों, अपने दोस्तों में साझा करें, जिससे हमारे बीच जागरूकता आएगी और इससे सभी को बहुत फायदा होगा।

मुझे आपके सहयोग की आवश्यकता है ताकि मैं आप लोगों तक और नई जानकारी पहुंचा सकूं।

लेकिन फिर भी अगर आपको हमारी इस पोस्ट में कोई कमी नजर आती है तो कृपया कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें और उस कमी को दूर करने में हमारी मदद करें, धन्यवाद।

Post tag: Equity Fund Kya hai, Equity Fund Kya hai in Hindi, Equity Fund Kya hai in 2022, Equity Fund in Hindi, Equity Fund meaning in Hindi, Equity Fund me nivesh kaise kre, Equity Fund Kya hai, Equity Fund Kya hai,

मेरा नाम विशाल कुशवाहा है और मैं Uttar Pradesh के प्रयागराज शहर मे रहता हु।अभी मै Graducation last year (B.SC.) का Student हूँ | मुझे Share Market, finance, Cryptocurrency, Investment, और Digital Marketing के बारे में पढ़ने और लिखने का शौक है।मै इस Blog के माध्यम से Readers को Share Market और finance और निवेश की जानकारी हिंदी भाषा में देना चाहता हूँ ।

Leave a Comment