Credit Card क्या हैं? | क्रेडिट कार्ड कैसे बनवाएं [2022*]

Reading Time: 10 minutes

Credit card kya hota hai – आज की ऑनलाइन दुनिया में क्रेडिट कार्ड की भूमिका बहुत बढ़ रही है। अगर क्रेडिट कार्ड का सही इस्तेमाल किया जाए तो यह आपके लिए काफी फायदेमंद हो सकता है। वहीं अगर आप क्रेडिट कार्ड के इस्तेमाल में लापरवाही बरतते हैं तो यह आपको परेशानी में भी डाल सकता है।

अगर आप भी क्रेडिट कार्ड लेने की सोच रहे हैं तो आपके सभी सवालों के जवाब इस लेख के जरिए मिल जाएंगे। जैसे क्रेडिट कार्ड क्या है, क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन कैसे करें, क्रेडिट कार्ड का उपयोग करते समय क्या सावधानियां बरतनी चाहिए और क्या आपको क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करना चाहिए।

Table of Content

Credit Card in Hindi – Credit Card Kya hota hai

क्रेडिट कार्ड एक बैंक द्वारा जारी किया गया कार्ड होता है जिसकी सहायता से आप बिना नकद के क्रेडिट पर खरीदारी कर सकते हैं। क्रेडिट कार्ड का अर्थ है बैंक के साथ आपका ऋण खाता। इन सेवाओं के एवज में बैंक ग्राहक से क्रेडिट कार्ड पर वार्षिक शुल्क (एएमसी) लेता है।Credit card kya Hota hai

Credit card kya Hota hai

Credit Card खर्च विवरण के रूप में तैयार किया जाता है। इसे बिल की तारीख से 20 दिनों के भीतर सामान्य रूप से भुगतान करना होगा।

क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड में अंतर

डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड दिखने में एक जैसे ही हैं। लेकिन डेबिट कार्ड में खर्च करने के लिए आपके बैंक खाते में पहले से बैलेंस होना जरूरी है। लेकिन क्रेडिट कार्ड में आपको पहले खर्च करना होता है और बाद में भुगतान करना होता है। आप डेबिट कार्ड को प्रीपेड कार्ड और क्रेडिट कार्ड को पोस्टपेड कार्ड समझ सकते हैं।

क्रेडिट कार्ड का फायदा 

क्रेडिट कार्ड का बुद्धिमानी से उपयोग करना आपके वित्तीय जीवन को बहुत आसान बना सकता है।

नियमित खर्चों का प्रबंधन –

आप क्रेडिट कार्ड की मदद से अपने नियमित खर्चों का प्रबंधन कर सकते हैं। नियमित खर्चों के लिए क्रेडिट कार्ड का उपयोग करने से आपको उन पर नज़र रखने में भी मदद मिलती है।

धोखाधड़ी और गलतियों की कम गुंजाइश-

डेबिट कार्ड से ऑनलाइन भुगतान करना खतरनाक साबित हो सकता है। डेबिट कार्ड से भुगतान करने का खतरा बड़ा है क्योंकि यह आपके बैंक खाते से जुड़ी पूरी राशि को एक बार में ले सकता है। इसे वापस आने में लंबा समय लग सकता है। क्रेडिट कार्ड के मामले में गलती सुधारने के लिए समय दिया जाता है।

आपात स्थिति में मददगार –

आपात स्थिति में क्रेडिट कार्ड बहुत मददगार होता है। बैंक खाते से अधिक पैसे निकालने या लोन प्रोसेस करने में लगने वाले समय की तुलना में क्रेडिट कार्ड पैसे का सबसे आसान विकल्प है।Credit card kya Hota hai

अच्छा क्रेडिट स्कोर –

अगर आप क्रेडिट कार्ड से पैसा खर्च करते हैं और समय पर उसका भुगतान करते हैं, तो आप बेहतर क्रेडिट स्कोर बना सकते हैं। यह आपको लंबे समय में बहुत मदद करता है, खासकर जब आप व्यवसाय ऋण या व्यक्तिगत ऋण के लिए आवेदन करते हैं।

जानिए क्रेडिट कार्ड के फायदे

क्रेडिट कार्ड के निम्नलिखित लाभ हैं-

  1. भुगतान की सुविधा देता है
  2. आवर्ती भुगतानों में आसानी
  3. रिचार्ज और टिकट बुकिंग हुई आसान
  4. ब्याज मुक्त ऋण का लाभ प्राप्त करें
  5. पुरस्कारों का लाभ उठाएं
  6. कैशबैक और छूट पाएं
  7. खर्चों पर नज़र रख सकते हैं
  8. क्रेडिट कार्ड होना सुरक्षित है
  9. क्रेडिट स्कोर मजबूत है
  10. अतिरिक्त लाभ प्राप्त करें

क्रेडिट कार्ड कौन ले सकता है?

चूंकि क्रेडिट कार्ड ग्राहक का बैंक में ऋण खाता है। इसलिए बैंक किसी को भी आसानी से क्रेडिट कार्ड नहीं देते हैं। बैंकों के कुछ नियम और शर्तें हैं, उन नियमों और शर्तों को पूरा करने के बाद ही किसी व्यक्ति को क्रेडिट कार्ड उपलब्ध कराया जाता है। प्रत्येक क्रेडिट कार्ड में अलग-अलग पात्रता मानदंड होते हैं। उन सभी योग्यताओं और शर्तों को पूरा करने के बाद ही ग्राहक को क्रेडिट कार्ड जारी किया जाता है।Credit card kya Hota hai

सरकारी कर्मचारियों और निजी कंपनियों में काम करने वाले लोगों के लिए क्रेडिट कार्ड आसानी से उपलब्ध हैं। लेकिन अन्य कैटेगरी के लिए क्रेडिट कार्ड मिलना थोड़ा मुश्किल हो सकता है। बिजनेस क्लास क्लास को भी क्रेडिट कार्ड आसानी से मिल जाते हैं।Credit card kya Hota hai

आपका क्रेडिट कार्ड आवेदन आपकी ऋण चुकौती क्षमता, सिबिल स्कोर, मासिक आय इत्यादि पर पूरी तरह से जांच करता है। आपकी मासिक आय पर आपकी क्रेडिट सीमा तय की जाती है। सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों का क्रेडिट कार्ड लेना थोड़ा मुश्किल है, जबकि निजी बैंकों का क्रेडिट कार्ड लेना थोड़ा आसान है।

क्रेडिट कार्ड कितने प्रकार के होते हैं?

शॉपिंग से लेकर बिजली बिल भरने तक सभी तरह के क्रेडिट कार्ड उपलब्ध हैं, तो बस उनके बारे में जानने की जरूरत है। आइए जानते हैं कि भारत में कितने प्रकार के क्रेडिट कार्ड उपलब्ध हैं और उनकी विशेषताएं क्या हैं:

भारत में क्रेडिट कार्ड के प्रकार और उनकी विशेषताएं:

  • ट्रैवल क्रेडिट कार्ड – ट्रैवल क्रेडिट कार्ड की मदद से आप सभी एयरलाइन टिकट बुकिंग, बस और रेल टिकट बुकिंग, कैब बुकिंग और बहुत कुछ पर छूट का लाभ उठा सकते हैं। जब भी आप टिकट बुक करते हैं तो आपको कुछ पॉइंट मिलते हैं जिन्हें आप बाद में रिडीम कर सकते हैं।
  • फ्यूल क्रेडिट कार्ड – फ्यूल क्रेडिट कार्ड की मदद से फ्यूल सरचार्ज छूट का लाभ उठाकर आप पेट्रोल पंप द्वारा चलाए जा रहे ऑफर्स का लाभ उठा सकते हैं, इसके अलावा आप अतिरिक्त रिवॉर्ड पॉइंट अर्जित करके साल भर में बहुत सारा पैसा बचा सकते हैं।
  • रिवॉर्ड क्रेडिट कार्ड – इस प्रकार के क्रेडिट कार्ड के हर ट्रांजैक्शन पर कुछ न कुछ रिवॉर्ड (इनाम) जरूर मिलता है। कुछ कार्ड्स पर कैशबैक भी मिल रहा है। यदि आप कहीं भी कार्ड से भुगतान करते हैं तो आपको एक या दो प्रतिशत का कैशबैक मिलेगा।
  • शॉपिंग क्रेडिट कार्ड – शॉपिंग क्रेडिट कार्ड से खरीदारी या लेनदेन पर छूट प्राप्त करने के लिए पार्टनर स्टोर पर ऑनलाइन या ऑफलाइन खरीदारी करें। इस कार्ड का उपयोग करके, आप पार्टनर स्टोर से साल भर का कैशबैक, डिस्काउंट वाउचर और बहुत कुछ प्राप्त कर सकते हैं
  • सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड – जिन लोगों का क्रेडिट स्कोर बहुत खराब है यानी सिबिल स्कोर है उन्हें सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करना चाहिए। खराब क्रेडिट स्कोर वालों के लिए यह कार्ड काफी उपयोगी साबित होता है। यदि आप एक नया खाता खोलते हैं या ऋण के लिए आवेदन करते हैं, तो आप एक सुरक्षित क्रेडिट कार्ड से अपना क्रेडिट स्कोर सही कर सकते हैं।Credit card kya Hota hai
  • बैलेंस ट्रांसफर क्रेडिट कार्ड – जब आप भारी ब्याज या दंड से बचने के लिए बैलेंस ट्रांसफर क्रेडिट कार्ड के लिए जा सकते हैं। यह आपके मौजूदा क्रेडिट कार्ड बकाया को कम करने में मदद करता है। ऐसे कार्ड में आपको बकाया चुकाने के लिए 6 से 21 महीने का समय मिलता है। हां, इसके उपयोग के लिए आपको एकमुश्त बैलेंस ट्रांसफर शुल्क देना होगा, जो कुल राशि का 5% तक हो सकता है।

क्या आप क्रेडिट कार्ड ले सकते हैं ?

अगर आप किसी बैंक से क्रेडिट कार्ड लेना चाहते हैं तो उससे पहले आपको कुछ बातें जान लेनी चाहिए। आपको क्रेडिट कार्ड देने से पहले बैंक आपके बारे में यह आवश्यक जानकारी जानता है। इस जानकारी के आधार पर बैंक तय करता है कि आप क्रेडिट कार्ड के लिए योग्य हैं या नहीं। ये महत्वपूर्ण तथ्य इस प्रकार हैं:

1. क्रेडिट स्कोर – Credit Score/Cibil Score :

यदि आपने पहले ही कोई बैंक ऋण लिया है या आपके पास किसी अन्य बैंक का क्रेडिट है तो यह आपके ऋण भुगतान इतिहास को दर्शाता है। इस इतिहास के आधार पर, बैंक आपको क्रेडिट स्कोर देता है और इसे आमतौर पर सिबिल स्कोर के रूप में जाना जाता है।

यह रेटिंग जितनी बेहतर होगी, आपके लिए क्रेडिट कार्ड प्राप्त करना उतना ही आसान होगा। इसके आधार पर बैंक अनुमान लगाते हैं कि आप बैंक का कर्ज समय पर चुकाते हैं या नहीं। खराब रेटिंग या क्रेडिट स्कोर के मामले में, आपको क्रेडिट कार्ड प्राप्त करना मुश्किल हो सकता है।Credit card kya Hota hai

2. आपकी आय – Income/Salary : 

बैंक आपको क्रेडिट कार्ड देने से पहले आपकी आय की पूरी जानकारी भी लेते हैं। यदि आपकी आय बैंक द्वारा निर्धारित आय सीमा से कम है, तो बैंक आपको क्रेडिट कार्ड देने पर विचार कर सकता है। उदाहरण के लिए यदि बैंक ने क्रेडिट कार्ड देने के लिए आय सीमा 20000 रखी है और आपकी आय इससे कम है तो आप क्रेडिट कार्ड लेने के पात्र नहीं होंगे।

3. आवेदक की आयु – Age :

बैंक केवल 18 वर्ष या उससे अधिक आयु के व्यक्ति को ही क्रेडिट कार्ड देते हैं। दूसरे शब्दों में, केवल एक वयस्क ही क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन कर सकता है।

4. दूसरे ऋण जोखिम – Borrowings :

यदि आपने अपने ऋण की चुकौती क्षमता से अधिक ऋण लिया है, तो बैंक आपको इस स्थिति में भी क्रेडिट कार्ड के लिए मना कर सकता है। उदाहरण के लिए, यदि आपने अलग-अलग बैंकों से होम लोन और कार लोन लिया है, जिनकी कुल मासिक किश्त आपकी आय के 60% से अधिक है, तो ऐसी स्थिति में बैंक आपके क्रेडिट कार्ड के आवेदन को अस्वीकार कर देगा।

5. आपके नियोक्ता – Employer :

क्रेडिट कार्ड देने से पहले बैंकिंग कंपनी भी आपसे आपके नियोक्ता के बारे में पूरी जानकारी चाहती है। यदि यह जानकारी संतोषजनक नहीं है और आप ऐसी जगह काम कर रहे हैं जो स्थायी नहीं है, तो आपको क्रेडिट कार्ड नहीं मिल सकता है।

6. बैंक से आपका व्यवहार:

आजकल लगभग सभी को अपना वेतन बैंक के माध्यम से मिलता है। ऐसे में अगर आपका वेतन खाता उस बैंक में है जहां से आप क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन कर रहे हैं तो यह आसान है।

Credit Card अप्लाई कैसे करें?

क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करने के लिए आप ऑनलाइन या ऑफलाइन दोनों तरीकों का उपयोग कर सकते हैं। आप संबंधित बैंक की आधिकारिक वेबसाइट से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। इसके अलावा आप बैंकबाजार या पैसाबाजार से भी अपनी पसंद के क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं।

यहां आपको सभी बैंकों के क्रेडिट कार्ड मिल जाएंगे। आप उनकी तुलना कर सकते हैं और अपनी पसंद का क्रेडिट कार्ड चुन सकते हैं। ऑफलाइन मोड में, आप सीधे बैंक में जाकर या किसी एजेंट के माध्यम से क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं।

क्रेडिट कार्ड के जरुरी दस्तावेज

किसी भी क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करने के लिए आपको निम्नलिखित दस्तावेजों की आवश्यकता है।

  • आवेदन फार्म
  • पहचान पत्र
  • पते का सबूत
  • आवेदक का एक पासपोर्ट साइज फोटो
  • पैन कार्ड या फॉर्म 60
  • पिछले 3 महीने की सैलरी स्लिप। आईटीआर फॉर्म (आय प्रमाण के लिए) यदि आप स्व-नियोजित हैं।

क्रेडिट कार्ड की टर्म और कंडीशन

  • Credit Card लेने के बाद आपको कुछ नियमों और शर्तों का ध्यान रखना होगा, नहीं तो आपको कुछ दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।
  • क्रेडिट कार्ड पर होने वाले सभी खर्चों के लिए क्रेडिट कार्ड धारक स्वयं जिम्मेदार होता है।
  • एक क्रेडिट कार्ड बिल या स्टेटमेंट एक महीने में एक निश्चित तारीख को जेनरेट होता है। आपको आमतौर पर उसके 20 दिनों के भीतर क्रेडिट कार्ड बिल का भुगतान करना होता है। यदि आप क्रेडिट कार्ड बिल का भुगतान निर्धारित सीमा के भीतर नहीं करते हैं, तो आपको जुर्माना और ब्याज देना होगा, जो कि बहुत अधिक है।
  • यदि आप देय तिथि से पहले क्रेडिट कार्ड का भुगतान करते हैं, तो आपको कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं देना होगा।
  • बैंक आपको बिल जनरेट होने पर न्यूनतम देय राशि का भुगतान करने का विकल्प भी देता है। उदाहरण के लिए, आपका क्रेडिट कार्ड बिल ₹10,000 है और बैंक आपको नियत तारीख तक न्यूनतम ₹2,000 का भुगतान करने की पेशकश कर सकता है। यदि आप केवल न्यूनतम राशि का भुगतान करते हैं, तो आपको कोई जुर्माना नहीं देना होगा बल्कि ब्याज देना होगा। इसलिए, बेहतर होगा कि आप पूरे बकाया का भुगतान करें, न कि केवल न्यूनतम राशि का।
  • अधिकांश क्रेडिट कार्डों में कुछ वार्षिक शुल्क होता है जो आपको देय होने पर भुगतान करना पड़ता है।
  • आप केवल क्रेडिट कार्ड की मासिक सीमा के अनुसार ही खर्च कर सकते हैं। अगर क्रेडिट कार्ड की लिमिट ₹50,000 है तो आप ₹50,000 तक ही खरीदारी कर सकते हैं।

क्रेडिट कार्ड का प्रबंधन कैसे करें

आप सोच रहे होंगे कि क्रेडिट कार्ड को मैनेज करना कैसा होता है? क्रेडिट कार्ड को प्रबंधित करने के लिए आपके पास दो प्लेटफ़ॉर्म हैं। सबसे पहले, अब आप संबंधित बैंक के क्रेडिट कार्ड इंटरनेट बैंकिंग पर अपना खाता बनाकर नीचे दी गई सुविधाओं का उपयोग कर सकते हैं।Credit card kya Hota hai

उदाहरण के लिए हम कुछ बैंकों के क्रेडिट कार्ड इंटरनेट बैंकिंग के लिंक शेयर कर रहे हैं।

  1. Slice Credit card Login
  2. HDFC Credit card Login
  3. SBI Credit card Login
  4. Citi Bank Credit card Login

दूसरे विकल्प में अगर आपका क्रेडिट कार्ड ऐप प्ले स्टोर पर उपलब्ध है तो उसे डाउनलोड करके आप अपने क्रेडिट कार्ड को मैनेज कर सकते हैं। जैसे एसबीआई कार्ड ऐप, सिटी बैंक कार्ड ऐप, एक्सिस कार्ड ऐप।

क्रेडिट कार्ड के प्रबंधन में शामिल गतिविधियाँ हैं –

  • Credit card लेनदेन और विवरण देखें।
  • क्रेडिट कार्ड पिन बदलें या जेनरेट करें।
  • Credit card पर प्राप्त रिवार्ड पॉइंट्स को भुनाने के लिए।
  • क्रेडिट कार्ड पर लेनदेन की सीमा निर्धारित करना।
  • Credit card ब्लॉक करना।
  • डुप्लिकेट स्टेटमेंट प्राप्त करना।
  • क्रेडिट कार्ड बिल भुगतान।

क्रेडिट कार्ड का उपयोग करते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

यदि आप क्रेडिट कार्ड का ठीक से उपयोग करते हैं, तो यह आपके वित्त (mgmt) के प्रबंधन में एक लंबा रास्ता तय कर सकता है। वहीं अगर आप क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते समय निम्न सावधानियां नहीं बरतते हैं तो आपको दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।

  • सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि क्रेडिट कार्ड बिल का भुगतान हमेशा नियत तारीख से पहले किया जाना चाहिए। अगर आप देर से पेमेंट करते हैं तो आपका सिबिल स्कोर खराब हो सकता है। साथ ही क्रेडिट कार्ड के बिलों पर ब्याज और पेनल्टी बहुत ज्यादा होती है, जिससे आपका बजट खराब हो सकता है।
  • क्रेडिट कार्ड बिल या रसीद पर स्टेटमेंट पर हमेशा सभी लेनदेन की जांच करें। क्या इसमें कोई अनधिकृत लेनदेन है? अगर आपको ऐसा कोई ट्रांजैक्शन दिखे तो तुरंत बैंक को सूचित करें।
  • हमेशा क्रेडिट कार्ड से उतना ही खर्च करें जितना आप समय पर चुका सकते हैं।
  • अपना क्रेडिट कार्ड पिन और सीवीवी किसी के साथ साझा न करें, यहां तक कि बैंक कर्मचारी भी नहीं।
  • अपने मोबाइल फोन या ईमेल पर प्राप्त ओटीपी (वन टाइम पासवर्ड) को कभी भी किसी के साथ साझा न करें। ऐसा करने से धोखाधड़ी की संभावना समाप्त हो जाती है।
  • आपको अपना क्रेडिट कार्ड पिन समय-समय पर बदलते रहना चाहिए।
  • यदि आपका क्रेडिट कार्ड कभी खो जाता है, तो तुरंत बैंक को सूचित करें।
  • क्रेडिट कार्ड शुल्क और छिपे हुए शुल्कों से हमेशा अवगत रहें।

क्रेडिट कार्ड से भुगतान कैसे करें?

क्रेडिट कार्ड बिल भुगतान करने के लिए कई विकल्प उपलब्ध हैं। आप संबंधित बैंक की वेबसाइट पर जाकर क्रेडिट कार्ड बिल का भुगतान कर सकते हैं।

आजकल CRED ऐप बहुत लोकप्रिय हो रहा है जो आपके क्रेडिट कार्ड से भुगतान पर रिवॉर्ड और कैशबैक भी देता है। CRED ऐप यहां से डाउनलोड करें – यहां क्लिक करें

इसके अलावा आप अपने क्रेडिट कार्ड बिल का भुगतान फोन पे, अमेजन पे आदि के जरिए भी कर सकते हैं।

क्रेडिट कार्ड की फीस और शुल्क

कुछ क्रेडिट कार्ड शुल्क और शुल्क हो सकते हैं।

एएमसी – वार्षिक रखरखाव शुल्क यह क्रेडिट कार्ड के वार्षिक शुल्क के रूप में लिया जाता है। क्रेडिट कार्ड को अपग्रेड करने पर एएमसी बढ़ सकती है।

नकद अग्रिम शुल्क – जब भी आप एटीएम का उपयोग करके क्रेडिट कार्ड से नकद निकालते हैं, तो आपको निकाली गई राशि का 2.5% या न्यूनतम शुल्क जो भी हो, का भुगतान करना होगा।

देर से भुगतान शुल्क और ब्याज – क्रेडिट कार्ड बिल के देर से भुगतान के लिए जुर्माना और ब्याज का भुगतान करना होगा। ब्याज की गणना प्रति दिन के आधार पर की जाती है, जो ज्यादातर मामलों में 30 से 42% के बीच होती है।

जीएसटी – क्रेडिट कार्ड ईएमआई, एएमसी आदि पर भी जीएसटी लगता है।

क्या एक क्रेडिट कार्ड बिल का भुगतान दूसरे क्रेडिट कार्ड से किया जा सकता है?

ये सवाल कई लोगों के मन में आते हैं. लेकिन आप कभी भी एक क्रेडिट कार्ड को दूसरे क्रेडिट कार्ड से बिल नहीं कर सकते। आप क्रेडिट कार्ड, यूपीआई, नेट बैंकिंग, डेबिट कार्ड से ही भुगतान कर सकते हैं।

सबसे बेस्ट क्रेडिट कार्ड कौन सा है?

  1. Slice Credit Card
  2. एक्सिस बैंक ऐस क्रेडिट कार्ड
  3. Amazon Pay आईसीआईसीआई बैंक क्रेडिट कार्ड
  4. HDFC रेगलिया क्रेडिट कार्ड
  5. SBI BPCL ऑक्टेन क्रेडिट कार्ड
  6. सिम्पली क्लिक एसबीआई (SBI) कार्ड
  7. सिटी प्रीमियर माइल्स क्रेडिट कार्ड
  8. SBI कार्ड एलीट
  9. यस फर्स्ट प्रेफर्ड क्रेडिट कार्ड

क्या आपको क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करना चाहिए?

यदि आप ब्याज मुक्त क्रेडिट का उपयोग करना चाहते हैं, तो आपको निश्चित रूप से क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करना होगा। अगर आपको हर महीने लगातार पैसों की जरूरत रहती है तो क्रेडिट कार्ड आपके लिए एक अच्छा विकल्प है।

लेकिन अगर आप जरूरत से ज्यादा खर्च करने वाले व्यक्ति हैं तो आपको क्रेडिट कार्ड से दूर ही रहना चाहिए। क्योंकि ऐसे में आप पर कर्ज ज्यादा हो सकता है। फिक्स्ड इनकम न होने पर भी क्रेडिट कार्ड लेना सही विकल्प नहीं है।

दोस्तों क्रेडिट कार्ड से जुड़े आपके सभी सवालों का जवाब आपको मिल ही गया होगा। अगर आपका कोई सवाल या सुझाव है तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स के जरिए बता सकते हैं।

Post Tag:  Credit card kya Hota hai, Credit card kya Hota hai in hindi, Credit card kya Hota hai hindi, Credit card kya Hota hai hindi me, Credit card kya Hota hai 2022,

Digital Marketing Expert | Website | + posts

मेरा नाम विशाल कुशवाहा है और मैं Uttar Pradesh के प्रयागराज शहर मे रहता हु।अभी मै Graducation last year (B.SC.) का Student हूँ | मुझे Share Market, finance, Cryptocurrency, Investment, और Digital Marketing के बारे में पढ़ने और लिखने का शौक है।मै इस Blog के माध्यम से Readers को Share Market और finance और निवेश की जानकारी हिंदी भाषा में देना चाहता हूँ ।

Leave a Comment