What is CIBIL Score in Hindi? – Credit Score कैसे बढ़ाये in 2022

Reading Time: 9 minutes

दोस्तों आज की आर्थिक दुनिया में आपका CIBIL Score या Credit Score बहुत महत्वपूर्ण है। अगर आप लोन या क्रेडिट कार्ड लेना चाहते हैं तो आपके पास सिबिल स्कोर होना चाहिए। हम सभी आर्थिक रूप से जानकार लोगों को विशेष रूप से ऋण या क्रेडिट कार्ड प्राप्त करने के लिए सिबिल स्कोर जानने की आवश्यकता है।

क्या आप जानते हैं कि यह CIBIL पॉइंट क्या है? हालाँकि पश्चिमी देशों ने 1950 के दशक में अपनी स्वयं की क्रेडिट निगरानी प्रणाली विकसित की CIBIL को भारत में 2000 में देश की क्रेडिट रेटिंग एजेंसी के रूप में लॉन्च किया गया था।

CIBIL ने अब एक लंबा सफर तय किया है और एक प्रमुख भूमिका निभाई है। यह भारत को आर्थिक रूप से शिक्षित देश बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

क्रेडिट रेटिंग मॉडल न केवल पूरे वित्तीय बाजार को अधिक पारदर्शी सुसंगत और विनियमित बनाता है बल्कि वित्तीय संस्थानों में बेहतर जोखिम प्रबंधन के बारे में जागरूकता बढ़ाता है और गैर-निष्पादित ऋणों को यथासंभव कम करता है। CIBIL अपने डेटाबेस और टेक्नोलॉजी को लगातार अपडेट कर रहा है। ..

आज के लेख के माध्यम से आप सीखेंगे कि सिबिल स्कोर क्या है सिबिल स्कोर की गणना कैसे करें अपने क्रेडिट स्कोर की जांच कैसे करें और आपके सभी सवालों के जवाब।

CIBIL Score क्या होता हैं – What is CIBIL Score in Hindi

CIBIL का Full form होता है Credit Information Bureau of India Limited. यह सिबिल ट्रांसयूनियन स्कोर एक 3 अंकों की संख्या है जो आपके क्रेडिट इतिहास को दर्शाती है।

इस स्कोर की गणना आपकी क्रेडिट रिपोर्ट के आधार पर की जाती है जिसमें आपका क्रेडिट इतिहास शामिल होता है। यह सिबिल स्कोर 300 से 900 के बीच होता है।

आपका क्रेडिट स्कोर जितना अधिक होगा आपका क्रेडिट इतिहास उतना ही बेहतर होगा। एक क्रेडिट स्कोर एक विशिष्ट तरीके से ऋण चुकाने की आपकी क्षमता को दर्शाता है।

जितना ज्यादा CIBIL स्कोर होता है उतना अच्छा माना जाता और ज्यादा CIBIL स्कोर होने से आपको लोन मिलने की संभावना बढ़ जाती है |

इसे भी पढ़ें – Slice Credit Card क्या है? | Slice लाइफ टाइम फ्री क्रेडिट कार्ड

CIBIL Report क्या होती हैं?

जब भी आप किसी बैंक या वित्तीय संस्थान (Financial Institution) के पास लोन जैसे के होम लोन, कार लोन या क्रेडिट कार्ड लेने जाते हैं तो बैंक सबसे पहले आपकी सिबिल रिपोर्ट देखता हैं।

CIBIL Report एक विस्तारित रिकॉर्ड होता हैं जो बैंको और वित्तीय संस्थानों की दी गई क्रेडिट हिस्ट्री की जानकारी के आधार पर बनाया जाता हैं। इस CIBIL Report में निम्न जानकारी शामिल होती हैं –

  • आपका सिबिल स्कोर
  • एड्रेस और Contact की जानकारी
  • व्यवसाय की जानकारी
  • लोन्स और क्रेडिट कार्ड्स की जानकारी
  • डिफॉल्ट्स और क्रेडिट inquiry की जानकारी

आपका सिबिल स्कोर कौन जारी करता है?

CIBIL का Full form होता है Credit Information Bureau of India Limited जो कि भारत की पहली क्रेडिट इन्फॉर्मेशन कंपनी है जिसका कार्य Credit Information रिपोर्ट तैयार करती है |

इस कंपनी की शुरुवात सन 2000 में की गयी थी |  2016 में अमेरिकी कंपनी TransUnion द्वारा CIBIL में 82% हिस्सा  खरीद लेने के बाद इसका नाम बदलकर TransUnion CIBIL Limited रख दिया गया |

सिबिल स्कोर चेक कैसे करे?

हाँ जी दोस्तों क्या आपको भी CIBIL Score चेक करना है? अब आप भी सोच रहे होंगे की आप का CIBIL Score कितना है और कैसे अपने CIBIL Score के बारे में पता करें, इसके लिए आपको नीचे बताए गए steps का पालन करना होगा : –

Step 1: जैसा की दोस्तों यदि आप CIBIL score free में पता करना चाहते है तो उसके लिए, आपको ये सिबिल स्कोर चेक ऑनलाइन फ्री website visit करना होगा – https://www.cibil.com/freecreditscore/

Step 2: इसके just बाद आपको form fill करना होगा, जिसमें आपको सभी basic information की जरुरत होती है जैसे की name, address, contact number और PAN details इत्यादि |

इस बात का ख्याल रखें की सही PAN details ही भर्ती करें अन्यथा आप आगे की steps में जा नहीं सकते हैं|

Step 3: इसके बाद आपको फिर कुछ सवालों के जवाब देने होंगे , आपके Loans और Credit cards के विषय में और फिर उसी basis पर आपकी CIBIL को calculate किया जाता है और आपकी Credit report तैयार की जाती है |

Step 4: जब एक बार आप आपने सभी details fill कर देंगे, तब यह website आपको आपकी CIBIL score और CIBIL report प्रदान कर देंगी |

लेकिन एक बार का क्रेडिट स्कोर चेक पर्याप्त नहीं है। चूंकि क्रेडिट बैंकिंग संस्थान और वित्तीय संस्थान मासिक आधार पर इस रिपोर्ट को अपडेट करते हैं इसलिए आपको रिपोर्ट में उतार-चढ़ाव पर भी नजर रखनी चाहिए।

उन स्थितियों के लिए जहां नियमित अपडेट की आवश्यकता होती है लेकिन सिबिल केवल एकमुश्त नि:शुल्क निरीक्षण प्रदान करता है। नियमित रिपोर्ट प्राप्त करने के लिए आपको एक भुगतान किया हुआ सदस्य होना चाहिए।

सिबिल स्कोर कितना होना चाहिए?

जैसा की Credit Score की रेंज 300 से 900 के बीच ही होती हैं, और Credit Score जितना ज्यादा होता हैं उतना अच्छा माना जाता हैं। आमतौर पर 700 से ऊपर का CIBIL Score अच्छा होता हैं।

Between 750-900: अगर आपकी क्रेडिट स्कोर 750 – 900 के range में है, तब आपने एक perfect financial track record maintain किया है, और आपको कोई भी Banks बड़ी amount देने के लिए तैयार हो जाएँगी और साथ में एक बढ़िया deal final करने के लिए negotiate भी करने लगेंगी |

Between 600 और 750: दोस्तों वैसे तो ये score बहुत ही बढ़िया है, other की तुलना में यदि आप ने इसे maintain रखा है तो ,आपको काफी banks loans और credit cards प्रदान करने के लिए तैयार भी हो जाएँगी, लेकिन आप एक competitive rate के लिए शायद negotiate न कर पायें |

Between 450 और 600: देखा जाये तो दोस्तों 450 – 600 ये एक average credit score होता है और जोकि बहुत अच्छा नहीं माना जाता है और न ही बहुत ख़राब, ऐसे Credit score में आपको कुछ banks loans दे भी सकती हैं, वहीँ यदि आपको credit card दिया जाता है तब उसकी credit limit बहुत ही कम कर के दी जाती है |

Between 300 और 450:  वैसे ये below 300 पहले के मुकाबले इतना खतरनाक नहीं माना जाता है, लेकिन ये score भी ज्यादा credible नहीं है, आप इसे एक warning समझकर अपने EMIs समय में देना चालू करें जिससे आपके credit score में सुधार आ जाये | और फिर से एक अच्छा क्रेडिट स्कोर बना सके |

Below 300: अगर आपकी CIBIL score 300 से नीचे है, तब आपको कोई भी bank loan प्रदान नहीं करेंगी, चाहे वो कोई भी loan क्यूँ न हो. आप banks के लिए एक बड़ी risk माने जाते ही और वो आपको credible नहीं मानते हैं loan देने के लिए |

इसे भी पढ़ें – Free में Credit Card बनवाएं 10 लाख की Credit Limit दे रहा ये Credit Card 

Credit Score को प्रभावित करने वाले फैक्टर – CREDIT SCORE Factors

जैसा की हर एक Credit Rating एजेंसी का क्रेडिट स्कोर मापने का criteria अलग-अलग हो सकता हैं। लेकिन फिर भी ये पॉइंट्स Credit Score के निर्धारण में सर्वाधिक ध्यान रखा जाता हैं –

1. Payment History – किसी व्यक्ति की Payment History उसके Credit Score को सबसे ज्यादा प्रभावित करती हैं। और मात्र एक late payment भी आपके Credit Score की लुटिया डूबा सकती है मतलब Credit Score पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता हैं।

Banks अपने ऋणी से आशा करते हैं की वो अपने जो भी dues है उनका भुगतान या repayment समय पर करे। सिबिल स्कोर के निर्धारण में पेमेंट हिस्ट्री का 30 से 35% weighted होता हैं।

2. Credit Utilization – Credit Card के ख़र्चे भी आपके Credit Score को प्रभावित करते हैं। आपके Credit card की लिमिट का आदर्श रूप से 30% से अधिक utilization नहीं होना चाहिए।

अगर आप अपनी लिमिट को पूरा प्रयोग में लेते हैं तो ऐसा करना Credit Score पर गलत प्रभाव डाल सकता हैं।

3. आपकी क्रेडिट हिस्ट्री की Age – वैसे तो आपकी क्रेडिट हिस्ट्री की Age सिबिल स्कोर की गणना में लगभग 15% तक हिस्सा रखती हैं। यदि आपका कोई Credit Account काफी पुराना हैं तो यह माना जाता हैं की आपको अपनी क्रेडिट हो हैंडल करने का अच्छा-खासा अनुभव हैं |

4. ऍप्लिकेशन्स की संख्या – आपकी जानकारी के लिए बता दे की यदि आप बहुत कम समय के अंतराल में ज्यादा एप्लीकेशन करते हैं, जैसे कि Loan Application और Credit Card Application और उनमें से कुछ Applications रिजेक्ट हो जाये। तो यह आपकी Credit history के लिए बिलकुल अच्छा नहीं होता।

5. Enquiries की संख्या – लगातार रूप से क्रेडिट इंक्वायरी आने का भी क्रेडिट स्कोर पर प्रभाव पड़ता है। 1 – 2 इंक्वायरी से ज्यादा प्रभाव नहीं पड़ता परंतु ज्यादा इंक्वायरी होने पर ये क्रेडिट स्कोर पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है।

6. Secured Loans और Unsecured Loans –Secured Loans वह लोन होते हैं जिसके बदले ऋणदाता कुछ एसेट collateral के रूप में लेता है। जिन लोंस के बदले कुछ भी asset नहीं रखी जाती, वे Unsecured Loans उन होते हैं जैसे की पर्सनल लोन।

Secured Loans और Unsecured Loans का अच्छा मिक्स क्रेडिट स्कोर पर सकारात्मक प्रभाव डालता है। अगर आपके पास Unsecured Loans ही  है तो यह क्रेडिट स्कोर को कम करने का काम कर सकता हैं।

People Also Read – IPO क्या है और इसमें कैसे निवेश करें 2022 ?

अपना CIBIL Score कैसे बढ़ाये – How to increase CIBIL Score in Hindi

सिबिल स्कोर एक संख्या है जिसे आवश्यकतानुसार संशोधित किया जा सकता है। हालांकि इसके लिए आपको अपने लोन को मंज़ूरी देने में और देरी से बचने के लिए इन टिप्स का पालन करना चाहिए।

बिगड़े सिबिल स्कोर को कैसे सुधारें? जानिए तरीका

1. Remainders Set करें उन्हें समय में repay करने के लिए : यदि आप कोई कर्ज चुकाना भूल जाते हैं तो आपका क्रेडिट स्कोर बहुत खराब हो जाएगा। इसलिए आपको समय पर और समय पर ईएमआई का भुगतान करना होगा।

अगर आप देरी करते हैं तो आपको पेनल्टी देनी होगी और आपका क्रेडिट स्कोर गिर सकता है। अगर आप ऐसे व्यक्ति हैं जिसे तारीख याद नहीं है तो आपको इसे याद रखने के लिए एक बैलेंस सेट करना चाहिए।

2अपने Credit Report में errors जरुर check करें : अगर आपको लगता है कि आपका क्रेडिट इतिहास अच्छा है लेकिन किसी अज्ञात कारण से आपका क्रेडिट स्कोर गिर रहा है। फिर आपको अपनी रिपोर्ट की समीक्षा करनी होगी।

मान लीजिए कि आप समय पर ईएमआई का भुगतान करते हैं लेकिन आपका क्रेडिट स्कोर गंभीर रूप से क्षतिग्रस्त हो जाता है यदि यह आपके क्रेडिट इतिहास में एक प्रशासनिक त्रुटि के कारण दिखाई नहीं देता है।

आपको त्रुटि की पुष्टि करने और उसे समाप्त करने की आवश्यकता है। यह आपको प्रभाव में तुरंत वृद्धि देखने की अनुमति देता है।

3. एक healthy credit mix maintain करने की कोशिश करें : ये हमेशा से माना जाता है की credits का mix बहुत ही बढ़िया होता है Credit score को maintain करने के लिए. इसलिए सलाह दी जाती है की unsecured loans जैसे credit cards, personal loans और secured loans जैसे की auto loan, home loan का संगम होना आवश्यक है. क्यूंकि किसी एक प्रकार की loan की excess credit score पर असर डाल सकती है |

4सभी credit cards को clean रखें : यदि आपके credit cards में कोई dues मतलब लोन्स नहीं हैं तब ये आपके बेहतर financial behavior के तरफ इशारा करता है |

इसलिए कोशिश करें की अपने सभी credit card dues को उनके repayment date के पहले ही pay कर दें, इससे आपके credit score में अच्छी improvement दिखाई पड़ सकती है |

5. Joint Account Holder कभी न बने : अगर आप किसी के साथ Joint Account Holder या लोन guarantor हैं और वे अपने लोन पेमेंट में default करते हैं तो बैंक आपकी रिपोर्ट भी सिबिल को नेगेटिव भेज सकते हैं।

इसलिए Guarantor या जॉइंट अकाउंट होल्डर बनने से बचे।

6. अपने लिए एक secured card लें : अगर आपके पास एक secured card होता है मतलब एक अच्छे bank या leading banks जैसे की ICICI Bank, AXIS Bank, SBI, इत्यादि की वो भी एक fixed deposit के against में और उसे आपने due date से पहले repay कर दिया है , तब आपकी CIBIL score पक्का ही बढ़ जाएगी |

7. एक समय में multiple loans न लें : यह एक अच्छी practice है की पहले वाले loan को repay करने के बाद ही कोई दूसरा loan लें. इससे आपके credit score पर अच्छा असर पड़ता है |

8. अपने credit utilization को limit करें : दोस्तों क्या आप जानते है? यह एक बहुत ही fastest तरीका है इससे अपने credit score को improve करने के लिए, इसमें आपको क्या करना है की अपने credit card को कभी extreme limit तक कभी भी इस्तमाल नहीं करना है |

आइये समझते है , मैं क्या कहना चाह रहा की अगर आपको credit limit Rs.1,00,00 की है तब इस बात का ख़याल रखें की आप प्रति माह में अपने credit limit की 30% से ज्यादा खर्च न करें , यहाँ पर Rs.30,00 से ज्यादा नहीं |

ऐसा करने से आपके credit score में बहुत इजाफा देखने को मिलेंगे |

9. लम्बे अवधि का चुनाव करें : दोस्तों आप की जानकारी के लिए बता दे , की जब भी कभी आप loan लें, तब उसे चुकाने की अवधि को लम्बी रखें | ऐसा करने से आपकी EMI भी कम होगी और आप उसे समय पर चूका भी सकते हैं |

वहीँ इससे आप कभी भी deafaulter list में नहीं आयेंगे और आपकी score improve भी होंगी |

10. अपने Credit limit को Increase करें : अगर कभी आपका bank आपके credit limit को बढ़ाने की बात कर रहा है तब कभी भी नहीं न बोलेन. क्यूंकि credit limit के बढ़ने से आपकी खर्चे करने में बढ़ोतरी नहीं होती है लेकिन यदि आपकी बड़ी credit limit हो और आप बहुत ही कम उसका इस्तमाल कर रहे हैं तब इससे आपका credit score जरुर से बेहतर हो जाता है.

Credit Score को improve होने से करीब 4 – 8 महीने तक लग जाते हैं, ये पूरी तरह से किसी individual के situation के ऊपर निर्भर करता है. आपको बस smart, patient और disciplined बनने ही जरुरत हिया जब आप पैसों का खर्च कर रहे हों या loan ले रहे हों |

Conclusion of the Post:-

आज के इस पोस्ट मे मैंने आपको बताया कि What is CIBIL Score in Hindi? CIBIL Score कैसे बढ़ाये, अपने Credit Report में errors जरुर check करें ,etc. के बारे मे आज हमने आपके साथ Discuss किया है।

अगर आपको ये Article पसंद आया, और इस Article को पढ़कर आपको कुछ सीखने को मिला, तो आप Comment करके हमे जरूर से बताये।।

धन्यवाद! (Thank You) 

Share Market, Make Money Online और Investment Related सभी जानकारी के लिए Visit करे।

 

मेरा नाम विशाल कुशवाहा है और मैं Uttar Pradesh के प्रयागराज शहर मे रहता हु।अभी मै Graducation last year (B.SC.) का Student हूँ | मुझे Share Market, finance, Cryptocurrency, Investment, और Digital Marketing के बारे में पढ़ने और लिखने का शौक है।मै इस Blog के माध्यम से Readers को Share Market और finance और निवेश की जानकारी हिंदी भाषा में देना चाहता हूँ ।

7 thoughts on “What is CIBIL Score in Hindi? – Credit Score कैसे बढ़ाये in 2022”

Leave a Comment